देश में हो चुका है 10 लाख इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का रजिस्ट्रेशन, इतने लगे हैं चार्जिंग स्टेशन

देशमेंइलेक्ट्रिकवाहनोंकीसंख्यातेजीसेबढ़रहीहै.बड़ीसंख्यामेंलोगइलेक्ट्रिकवाहनोंकोअपनारहे.हालांकि,अभीभीयहसंख्याकाफीकमहै.देसमेंकुल10लाखसेज्यादाइलेक्ट्रिकवाहनोंकापंजीकरणहुआहैजबकि1700सेज्यादासार्वजनिकचार्जिंगस्टेशनकामकररहेहैं.बुधवारकोसरकारकीओरसेसंसदकोजानकारीदीगईकिपिछलेसप्ताहतकभारतमेंकुल10,60,707इलेक्ट्रिकवाहनपंजीकृतकिएगए,जबकिदेशमें1,742सार्वजनिकचार्जिंगस्टेशन(पीसीएस)चालूथे.

राज्यसभामेंएकप्रश्नकेलिखितउत्तरमें,सड़कपरिवहनऔरराजमार्गमंत्रीनितिनगडकरीनेकहाकिराजमार्गविकासकर्ताद्वाराराष्ट्रीयराजमार्गोंपरसड़ककिनारेकीसुविधाओं(डब्ल्यूएसए)केहिस्सेकेरूपमेंइलेक्ट्रिकचार्जिंगस्टेशनउपलब्धकराएजानेहैं.गडकरीनेकहा,‘‘देशमेंइलेक्ट्रिकवाहनोंकीसंख्या,19मार्चकोवाहन4केआंकड़ोंकेअनुसार,10,60,707है,औरऊर्जादक्षताब्यूरो(बीईई)केअनुसार21मार्च,2022तकदेशमेंकुल1,742सार्वजनिकचार्जिंगस्टेशन(पीसीएस)अभीचालूहैं.’’

उन्होंनेकहाकिभारतीयराष्ट्रीयराजमार्गप्राधिकरण(एनएचएआई)पहलेहीविकासकेलिएऐसी39सुविधाएंदेचुकाहै.एकअलगप्रश्नकेउत्तरमें,गडकरीनेकहाकि21मार्च,2022तकदेशभरमेंराष्ट्रीयराजमार्गोंपर816शुल्कटोलप्लाजाचालूहैं.

हाईवेपरहर25किमीपरमिलेंगेचार्जिंगस्टेशन

हालहीमेंभारीउद्योगमंत्रालयनेफास्टरएडॉप्शनएंडमैन्युफैक्चरिंगऑफहाइब्रिडएंडइलेक्ट्रिकव्हीकल्स(फेम)इंडियायोजनाकेदूसरेचरणकेतहत16राजमार्गोंऔरनौएक्सप्रेसवेपर1,576इलेक्ट्रिकवाहन(ईवी)चार्जिंगस्टेशनोंकोमंजूरीदीहै.

इससेपहलेयोजनाकेदूसरेचरणकेतहतही25राज्यों,केंद्रशासितप्रदेशोंके68शहरोंमें2,877चार्जिंगस्टेशनोंकोमंजूरीदीगईथी.वहीं,योजनाकेपहलेचरणकेतहतकरीब43करोड़रुपयेकीलागतवालेकरीब520चार्जिंगस्टेशन/बुनियादीढांचेकोमंजूरीदीगईथी.

यहभीपढ़ें-

कभीभीरेडलाइटपारकीहैतोतुरंतऐसेदेखेंकिचालानकटायानहीं

पहाड़ोंकेऊबड़-खाबड़रास्तोंपरचलानेकेलिएकैसीकारेंहोतीहैंबेस्ट?यहांजानिए

CarloanInformation:

CalculateCarLoanEMI